HelloDharNews

HelloDharNews Hindi news Website, Daily Public News, political, crime,filmy, Media News,Helth News

Breaking

Saturday 17 February 2024

February 17, 2024

नर्मदा साहित्य मंथन के तृतीय सोपान के दूसरे दिन का प्रारंभ हेरिटेज़ वाक से हुआ

 नर्मदा साहित्य मंथन के तृतीय सोपान के दूसरे दिन का प्रारंभ हेरिटेज़ वाक से हुआ

नर्मदा साहित्य मंथन के दूसरे दिन छः सत्रों में वक्ता ने अपने विचार रखें 

संजय शर्मा संपादक 
हैलो धार पत्रिका/ हैलो धार न्यूज़ पोर्टल


   धार।  हेरिटेज वाक का प्रारंभ भोजशाला से हुआ एवं समापन विजय मंदिर पर हुआ। हेरिटेज वाक मे विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार , पाँचजन्य के संपादक श्री हितेश शंकरजी एवं सर्वोच्च न्यायालय के प्रसिद्ध वरिष्ठ अधिवक्ता  अश्विनी उपाध्याय जी प्रमुख रूप से सम्मिलित हुए। इनके साथ भोजपर्व में शामिल हुए प्रतिभागीयो ने विजय मंदिर के इतिहास को जाना एवं प्रत्यक्ष जानकारी प्राप्त की।


नर्मदा साहित्य मंथन के दूसरे दिन का प्रथम सत्र रामराज्य की अवधारणा एवं स्वरूप


  विषय पर केंद्रित रहा जिसमें आलोक कुमार जी ने अपने विचार रखे। उन्होंने कहा कि भगवान श्री राम का मंदिर 25 पीढ़ीयों  और लाखों लोगो के बलिदान का परिणाम हैं। 

  इस वर्ष 22 जनवरी को दुनिया के 55 देशों के 5 लाख मंदिर में 9 करोड़ से अधिक लोगो ने राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा का उत्सव मनाया और भारत के करोड़ों लोगो की श्रद्धा ने मूर्ति में प्राण स्थापित किया। उन्होंने कहा कि राम जी के राज्य में धर्म आधारित जीवन था। समाज के संबंधों का निर्धारण पुलिस और क़ानून नहीं कर सकता। आतंकवाद और सभ्य समाज एक साथ नहीं रह सकते हैं। 


    राम राज्य में महिला सम्मान के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि महिलाओं की गरिमा, सुरक्षा , सहभाग और सम्मान ये सभी राम राज्य में भी थे और वर्तमान में इसके बिना हम विश्वगुरु नहीं हो सकते। अयोध्या में राम मंदिर की स्थापना आदिपर्व था परंतु भविष्य में ऐसे अवसर आते रहेंगे। आने वाले समय में मथुरा काशी और भोजशाला भी अपने मूल स्वरूप में स्थापित होगी। इस चर्चा सत्र का संचालन सिद्धार्थ शंकर गौतम ने किया।


   द्वितीय सत्र में पद्मश्री रमेश पतंगे जी ने संविधान से राम राज्य  का मार्ग विषय पर अपने विचार रखे। उन्होंने कहा कि संविधान केवल पुस्तक में पढ़ने से आगे बढ़ाकर दैनिक जीवन में जीना पड़ेगा। सामाजिक समरसता का उल्लेख संविधान में मिलता हैं। हमारे देश में न्याय व्यवस्था इतनी श्रेष्ठ थी इसका उदाहरण इसी बात से मिलता हैं कि पशु को न्याय देने के लिए अपने बच्चों को रथ के पहिये के नीचे कुचलने की सजा देने वाले न्यायप्रिय राजा भी इस देश में रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब तक समाज में सामाजिक समरसता का भाव नहीं होगा, समाज में राम राज्य का निर्माण नहीं हो सकता।हमारे संविधान में भी सामाजिक समरसता को सर्वोपरि रखा गया है। संविधान में उल्लेखित अपने  कर्तव्यो के पालन से राम राज्य की कल्पना को साकार किया जा सकता हैं। सत्र का संचालन श्री सुब्रतों गुहा जी ने किया।


  तृतीय सत्र के मुख्य वक्ता सर्वोच्च न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता  अश्विनी उपाध्याय जी रहे उन्होंने भारतीय न्यायपालिका में स्व की अवधारणा विषय पर अपने विचार रखे। उन्होंने भारत की स्व आधारित न्याय व्यवस्था की स्थापना के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि भारत में अभी ग़ुलामी की मानसिकता वाली शिक्षण व्यवस्था, न्याय व्यवस्था, पुलिस व्यवस्था एवं कार्यपालिका चल रही हैं इसे बदलने की आवश्यकता हैं। न्याय यदि समय पर नहीं मिलता तो वो न्याय किसी काम का नहीं हैं। उन्होंने कहा कि भारत में जस्टिस विथिन ए ईयर अर्थात् एक साल में न्याय वाली व्यवस्था लागू होना चाहिए। उन्होंने कहा कि क़ानून कठोर होने से लोग अपराध नहीं करेंगे।


   उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 से अब तक 1500 से अधिक अंग्रेज़ी के समय के अनुपयोगी क़ानूनों को ख़त्म किया गया हैं। जबकि 2014 से पहले स्वतंत्रता के समय तक केवल 50 अंग्रेज़ी क़ानून समाप्त हुए हैं। अभी भी कई ऐसे काले क़ानून हैं जिन्हें समाप्त करने की आवश्यकता हैं।


   उन्होंने कहा कि त्वरित न्याय के लिए ज्यूडीशियल रिफार्म की आवश्यकता हैं। जज़ों की नियुक्ति के लिए भी राष्ट्रीय स्तर की एक परीक्षा होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि न्याय करने वालों को विवादित जगहों पर जाकर अपने स्वाविवेक से देखकर निर्णय ले तो भोजशाला मंदिर जैसे मुक़दमों का निर्णय कुछ दिनों में ही संभव हो सकेगा। सत्र का संचालन विशाल सनोठिया ने किया।


 चतुर्थ  सत्र में विवेकानंद केंद्र की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद्मश्री सुश्री निवेदिता रघुनाथ भिड़े दीदी ने  दैनिक जीवन में अध्यात्म विषय पर अपने विचार रखे।  उन्होंने कहा कि भारत अध्यात्म का केंद्र रहा हैं। अध्यात्म के कारण ही भारत वैभव संपन्न राष्ट्र रहा हैं। धर्म ही राष्ट्र और समाज का आधार है, धर्म में हम सबके कर्तव्य निहित हैं, व्यक्तिवादी होने से सृष्टि का संतुलन बिगड़ जाएगा और परिवार का विघटन होता हैं।


समाज के प्रति निःस्वार्थ भाव ही राष्ट्र के पुनरुत्थान का माध्यम बनेगा। हम सबको ये विचार करना चाहिए कि हमारे जीवन का उद्देश्य क्या हैं। व्यक्ति का विस्तारित रूप परिवार, परिवार का विस्तारित रूप समाज, समाज का विस्तारित रूप ही राष्ट्र हैं। इसलिए राष्ट्र प्रथम हैं।


  उन्होंने कहा कि हिंदू धर्म संपूर्ण विश्व को अध्यात्म सिखाने वाला माध्यम हैं। हिंदुत्व का व्याप्त बहुत बड़ा हैं। सूचिता, करुणा, तप, और धर्म ही अध्यात्म का आधार हैं। हमें प्रामाणिक होने की आवश्यकता हैं।

 आध्यात्मिकता के कारण ही हमारे राष्ट्र ने अपना स्वत्व नहीं छोड़ा, आध्यात्मिकता अपने स्व की रक्षा करने का  साहस देती है। सत्र संचालन डॉ माला सिंह ठाकुर ने किया।

  पाँचजन्य के संपादक  हितेश शंकर जी ने पाँचवे सत्र में मंदिरों से मज़बूत होता भारत का आर्थिक तंत्र विषय पर अपने विचार रखे।  उन्होंने कहाँ कि आपदा के समय मंदिर ना सिर्फ़ संबल प्रदान करते हैं बल्कि संसाधन भी प्रदान करते हैं। इसका उदाहरण कोविड में देखने को मिला। देश भर के हज़ारों मंदिरों ने करोड़ों लोगो को भोजन और आश्रय प्रदान किया।


मंदिर आर्थिक तंत्र के साथ साथ पर्यावरण को भी मज़बूत करते हैं। कार्बन क्रेडिट बढ़ाने के लिए मंदिर क्षेत्र के वन एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। मंदिर और समाज एक दूसरे के पूरक हैं। दोनों एक दूसरे का संरक्षण करते हैं। मंदिर की प्रसाद परंपरा समाज के पोषण का एक माध्यम हैं।

मंदिरों को देखने की सामान्य दृष्टि बदलनी होगी। मंदिर शिल्प को सम्मान देने वाली संस्था हैं। यहाँ कला पुरस्कृत होती हैं, यहाँ कारीगरों के हाथ नहीं जाते जाते। हमारे मंदिर आर्थिक तंत्र को मजबूत करने का एक सशक्त माध्यम हैं। सत्र संचालन अमन की व्यास ने किया।

   नर्मदा साहित्य मंथन के दूसरे दिन के अंतिम सत्र में श्रीमती कुमुद शर्मा जी ने साहित्य और शिक्षा में भारतीयता विषय पर अपना वक्तव्य दिया। उन्होंने कहा हमारे देश की प्रकृति , स्वभाव और वैशिष्ट्य ही भारतीयता हैं।विश्व में भारतीयता का स्वाभिमान बढ़ाने का काम मानवीयता करती हैं।“भारतीयता, मानवता की नाक का आभूषण हैं “।


  भारत में शिक्षा केवल डिग्री प्राप्त करने का माध्यम नहीं थी बल्कि व्यक्ति को जीवन सिखाना था। गुरु अपने शिष्य की प्रतिभा को पहचानकर उसकी योग्यता के अनुसार कौशल निपुण बनाना था। अंग्रज़ो ने मैकॉले को भारतीय शिक्षण व्यवस्था को नष्ट करके ब्रिटिश शिक्षण व्यवस्था को स्थापित करने का काम सौपा जिससे भारतीय आत्मनिर्भरता से दूर होते गये।

उन्होंने कहा कि भारत की नई शिक्षा नीति पुनः भारत को स्वाभिमान , आत्मसम्मान और आत्मनिर्भरता की ओर ले जाने का कार्य करेगी। अब विद्यार्थी भारतीय भाषाओं में अध्ययन करके श्रेष्ठ ज्ञान प्राप्त करेंगे।  सत्र का संचालन डॉ शालिनी रतोरिया ने किया।


Sunday 4 February 2024

February 04, 2024

अयोध्या में आहूति देगा धार जिले का रघुवंशी समाज

 अयोध्या में आहूति देगा धार जिले का रघुवंशी समाज

अयोध्या में रघुवंशी समाज का 2121 कुंडीय राम महायज्ञ 10 से 18 फरवरी तक 

संजय शर्मा संपादक 
हैलो धार पत्रिका/ हैलो धार न्यूज़ पोर्टल


   धार।  अपने पूर्वज भगवान श्री राम की जन्मस्थली अयोध्या में रघुवंशी समाज 10 से 18 फरवरी तक 2121 कुंडीय महायज्ञ का आयोजन कर रहा है। राम पथ स्थित बड़ी छावनी में प्रस्तावित यज्ञ स्थल पर तैयारी शुरू हो गई हैं। इसमें धार मध्य प्रदेश समेत पूरे देश से रघुवंशी समाज के हजारों लोग शामिल होंगे।


    100 एकड़ में तैयार किए जा रहे यज्ञ स्थल पर हवन वेदियां बनाने के साथ कई कुटीर भी बनाए जा चुके हैं। हाल ही में महायज्ञ के लिए भंडार सामग्री से भरा एक ट्रक समीपस्थ गंजबासौदा से रवाना किया गया है। इसमें 200 क्विंटल हवन सामग्री है। 

    समाजसेवी हरीश रघुवंशी ने बताया कि साकेतवासी महंत कनक बिहारी दास महाराज की अयोध्या में रामलला के विराजमान होने पर 9 हजार कुंडीय राम महायज्ञ कराने की इच्छा थी। उनकी इस इच्छा को पूर्ण करने और उनकी प्रेरणा से रघुवंशी समाज ने पहल कर महायज्ञ कराने की घोषणा की। महाराजश्री का छिंदवाड़ा के पास आश्रम भी है। यज्ञ शाला तैयार करने में 80 दिन का समय लगा। काशी के विद्वान आचार्य डा. प्रेम नारायण शास्त्री व 21 अन्य पंडित यज्ञ संपन्न कराएंगे। धार जिले से अभी तक 55 से अधिक जोड़ों ने पंजीयन कराया है। 




Thursday 1 February 2024

February 01, 2024

नप अध्यक्ष प्रतिनिधि ने भोपाल में मुख्यमंत्री से मुलाकात कर विकास कार्यो का मांग पत्र सौंपा

 नप अध्यक्ष प्रतिनिधि ने भोपाल में मुख्यमंत्री से मुलाकात कर विकास कार्यो का मांग पत्र सौंपा


संजय शर्मा संपादक 
हैलो धार पत्रिका/ हैलो धार न्यूज़ पोर्टल

   बदनावर। नगर के विभिन्न विकास कार्यो को लेकर नगर परिषद अध्यक्ष प्रतिनिधि शेखर यादव ने भोपाल पहुंचकर मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव से मुलाकात की तथा शहर विकास को लेकर चर्चा की। इस मौके पर विकास कार्य की स्वीकृति के लिए मांग पत्र भी दिया गया। 

  मुख्यमंत्री को दिए मांग पत्र में बताया गया कि बलवंती नदी शुद्धिकरण कार्य हेतु कुल राशि 1693 लाख के कार्य योजना शासन को स्वीकृति हेतु प्रेषित की गई थी। योजना के अंतर्गत इंटरसेप्शन डायवर्सन के माध्यम से नदी में मिल रहे नालों को पाइप लाइन एक हजार मिमी डीआईए से एसटीपी 3.0 एमएलडी की क्षमता से शुद्धिकरण कर स्टाफ डेम से स्वच्छ जल शहर में रहेगा। उक्त कार्य योजना नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग भोपाल के अधीक्षण यंत्री राजीव गोस्वामी द्वारा चेक की गई है। उक्त कार्ययोजना में स्वीकृत 1100 लाख की राशि मे से 770 लाख पूर्व के उपलब्ध है।

  स्वच्छ भारत मिशन के द्वितीय चरण अंतर्गत राशि 529.20 लाख शासन से स्वीकृत होना अपेक्षित है। शेष राशि 348.38 लाख निकाय को विशेष निधि मद अंतर्गत स्वीकृत होना अपेक्षित है। योजना में कुल 5 वर्षो का संचालन संधारण अवधि निर्धारित है। यादव ने मांग पत्र भेंटकर मुख्यमंत्री से इस महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट को लेकर प्रशासकीय व तकनीकि स्वीकृति जारी करने की मांग की। 

इसके अलावा स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत नगर को स्वच्छ सर्वेक्षण एवं स्टार रैंकिंग के लिए आवश्यक उपकरण क्रय करने हेतु मांग की गई। जिसमें फटका मशीन, बेलिंग मशीन, श्रेडर मशीन, इगलु मशीन, डी कंपोस्टर, ट्रामल मशीन, गट्टा मशीन, चक्की मशीन के साथ ही मोबाईल शौचालय की मांग की गई। यादव ने मुख्यमंत्री को शहर में चल रहे विभिन्न विकास कार्यों को लेकर जानकारियां भी दी तथा बदनावर आने का निमंत्रण दिया।

   यादव ने बताया कि बलवन्ति नदी प्रोजेक्ट वर्षों से अधूरा पड़ा था। गत महीनों प्रदेश के तत्कालीन उद्योग मंत्री राजवर्धनसिंह दत्तीगांव के अथक प्रयासों से पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने मंजूरी दी थी।


Tuesday 30 January 2024

January 30, 2024

बरमण्डल के स्वास्थ्य शिविर में शाम तक 9 हज़ार से अधिक मरीजों की हुई जाँच

 बरमण्डल के स्वास्थ्य शिविर में शाम तक 9 हज़ार से अधिक मरीजों की हुई जाँच

संभागायुक्त  माल सिंह की पहल पर इंदौर के 150 विशेषज्ञ डॉक्टरों ने यहाँ पहुंचकर किया ग्रामीणों का नि:शुल्क उपचार

संजय शर्मा संपादक 
हैलो धार पत्रिका/ हैलो धार न्यूज़ पोर्टल

  धार। संभागायुक्त मालसिंह की पहल पर दूरस्थ अंचलों में ग्रामीणों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिये नि:शुल्क स्वास्थ्य शिविर आयोजित किए जा रहे हैं। इस सिलसिले सिलसिले में सरदारपुर तहसील के बरमण्डल में विशाल नि:शुल्क स्वास्थ्य शिविर लगाया गया। 


  शिविर में शाम तक 9 हज़ार से अधिक मरीजों ने पंजीयन कराकर अपनी बीमारी के संबंध में विशेषज्ञ चिकित्सकों के परामर्श लिया। आवश्यतानुसार मुफ़्त जाँचे करवायी और निःशुल्क दवाइयाँ प्राप्त की। इस शिविर में ग्रामीणों को एक ही परिसर में स्वास्थ्य सुविधाएं मिली। शिविर में इंदौर के 150 प्रतिष्ठित विशेषज्ञ डॉक्टरों ने बरमण्डल पहुंचकर ग्रामीणों का नि:शुल्क स्वास्थ्य परीक्षण कर उपचार किया। कमिश्नर  माल सिंह और कलेक्टर प्रियंक मिश्रा,ज़िला पंचायत अध्यक्ष  सरदार सिंह मेढ़ा,विधायक  प्रताप ग्रेवाल,पूर्व विधायक बेलसिंह भूरिया इस शिविर में उपस्थित रहे। 


शिविर में विभिन्न रोगों के विशेषज्ञ डॉक्टरों ने  मरीजों एवं स्वास्थ्य शिविर में आने वालों की जाँच की एवं उनका उपचार किया।  स्वास्थ्य संबंधित चिकित्सा परामर्श भी दिया। शिविर में आने वाले मरीजों के लिये पंजीयन और अन्य व्यवस्थाओं हेतु 60 काउंटर की व्यवस्था की गई थी। वहीं रिसेप्शन, सैम्पल लेने, जांच, दवाई वितरण, पेयजल, परामर्श आदि के काउंटर भी बनाये गये थे। शिविर में आने वाले मरीजो के स्वास्थ्य परीक्षण हेतु सोनोग्राफी निःशुल्क की गई। साथ ही सिकलसेल एनीमिया, एएनसी, शिविर में आने वाले मरीजो के लिये मेडिकल बोर्ड की भी व्यवस्था रखी गई।  शिविर में सभी प्रकार की पैथोलॉजिकल और अन्य जाँचे पूरी तरह निःशुल्क की गई। 


इस शिविर में इन्दौर के विशेषज्ञ गेस्ट्रोइन्ट्रोलाजिस्ट, अस्थि रोग विशेषज्ञ, नेत्र रोग विशेषज्ञ, मेडिसिन विशेषज्ञ, शिशु रोग विशेषज्ञ, नाक, कान, गला रोग विशेषज्ञ, स्त्री रोग विशेषज्ञ, शल्य रोग विशेषज्ञ रेडियोलाजिस्ट तथा चर्म रोग विशेषज्ञ मौजूद थे। विशेषज्ञ चिकित्सकों ने भी ग्रामीणों का इलाज किया। इसी प्रकार आयुर्वेदिक विशेषज्ञ, होम्योपैथी विशेषज्ञ डॉक्टरों ने भी अपनी सेवाएं दी। 


संभागायुक्त श्री मालसिंह ने कहा कि इंदौर संभाग के दूरस्थ अंचलों में विशेषज्ञ चिकित्सकों को पहुंचाकर ग्रामीणों के इलाज की सुविधा के लिये शिविर आयोजन का सिलसिला प्रारंभ किया गया है। शिविर में आये 150 चिकित्सकों से ग्रामीणों को स्थानीय स्तर पर ही बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिलेंगी।यहाँ आये अंतिम व्यक्ति का स्वस्थ परीक्षण होगा।अनेक जाँचे भी स्थानीय स्तर पर ही हो रही हैं। ग्रामीणों को अब भटकना नहीं पड़ रहा है। उन्होंने ग्रामीणों को यह भी समझाया कि ग्रामीणजन किसी भी बीमारी का सम्पूर्ण ईलाज लें। इलाज बीच में नहीं छोड़ें। समय-समय पर डॉक्टर को दिखायें एवं उनकी सलाह अनुसार ही दवाईयां लें। बीमारी होने पर घबराये एवं छुपाये नहीं, विज्ञान की प्रगति से आज के समय में हर बीमारी का उपचार संभव है।


   कलेक्टर   प्रियंक मिश्रा ने कहा कि एक सप्ताह के कम समय मे सारी तैयारियां कर इतना बडा शिविर बरमंडल मे लगाना  टीम वर्क को जाता है। इसमे छोटे से कर्मचारी से लेकर बड़े अधिकारी तक सभी तक योगदान दिया है वह प्रशंसनीय है। विधायक श्री प्रताप ग्रेवाल ने कहा कि संभाग आयुक्त की प्रेरणा से यह शिविर हो रहा है उसका पूरा लाभ क्षेत्र की जनता को मिला है आगे भी इसी तरह के शिविर का आयोजन हो ताकि ग्रामीण जनता को उपचार के लिये बडे शहरों की तरफ़ नही जाना पडे। पूर्व विधायक  वेलसिंह भूरिया ने भी संभाग आयुक्त के इस कार्य की प्रशंसा करते हुये सरकार की योजनाओं पर प्रकाश डाला ।


   मंगलवार को जिले के बरमण्डल में आयोजित स्वास्थ्य शिविर में 9 हज़ार से अधिक मरीजों का पंजीयन किया गया।इस शिविर में इंदौर के ग्रेस्ट्रोइन्ट्रोलॉजिस्ट डॉ. अमित अग्रवाल, डॉ. पावस द्विवेदी,, नेफोलॉजिस्ट डॉ. रितेश बनोडे, नेत्ररोग विशेषज्ञ डॉ. मनुश्री गीतम, नेत्ररोग विभाग डॉ. विकास जामरा, डॉ. रितिका सिंघल, डॉ. कतिका चोराट, डॉ. शैफाली साहू, स्त्रीरोग विशेषज्ञ डॉ. मोनिका वर्मा,  कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. पुनीत गोयल, डॉ. मोहित गोथवाल, मेडिसिन विशेषज्ञ डॉ. वैभव यादव, डॉ. वन्दना, शल्य रोग विशेषज्ञ डॉ. सचिन वर्मा, शल्य रोग विशेषज्ञ डॉ. रामेन्द्र, शिशुरोग विशेषज्ञ  डॉ. धमान्सु चौबे,  रेडियोलॉजिस्टडॉ. मो. फराज खान, डॉ. बलराम मालवीय, डॉ फरहान हसन ,अन्जना कुमारी, दंतरोग विशेषज्ञ डॉ. मनोज जैन, डॉ. अस्मीता दातला ,डॉ. अम्रीता बंसल, डॉ. साइना डॉ. नन्दिनी तिवारी, डॉ. मेहुल, डॉ. अनिशा, डॉ. रागिनी, डॉ. महिमा, डॉ. तनुश्री, डॉ. असिम, शल्य रोग विशेषज्ञ डॉ. डेनियल, शल्य रोग विशेषज्ञ डॉ. मिलिन्द, दंतरोग डॉ. आचल, दंतरोग डॉ. योगिता दीक्षित, कान, नाक, गला रोगविशेषज्ञ डॉ. हर्षित वाददुडे, डॉ. अरबाज शेख, डॉ. विद्या निधी, चर्मरोग विशेषज्ञ डॉ. राहुल नागर, डॉ. आकाश काटारा, न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. निपुन, फिजियोथेरेपिस्ट डॉ. मयूरी शर्मा, मनोरोग विशेषज्ञ डॉ. वर्चस्वी मुदगल, अस्थि रोग विशेषज्ञ डॉ. हर्ष वर्धन डावर, डॉ. आदित्य चौहान, डॉ. गौरववर्मा, डॉ. प्राचीजा सूजा, कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. राकेश, डॉ. मोनिशा, डॉ. क्षितिजा, डॉ. रिचा गुप्ता, डॉ. मितेश डॉ. शिवांस गुप्ता, होमियोपैथी विशेषज्ञ  डॉ. स्वाती भालते, डॉ. तरंग पटेल, डॉ. नीलम, आयुर्वेद विशेषज्ञ  डॉ. ऋषभ कुमार जैन, डॉ. विवेक शर्मा, डॉ. प्रज्ञा मेहता, डॉ. अपूर्वा गुप्ता , नेत्ररोग विशेषज्ञ डॉ. आकाश अपनी सेवाएं दीं। 

कलेक्टर ने किया रक्तदान


शिविर में रक्तदान शिविर भी लगाया गया। यहाँ 51 लोगों रक्तदान किया। कलेक्टर श्री प्रियंक मिश्रा ने भी यहाँ ब्लड डोनेट किया। 

*कमिश्नर सहित विभिन्न संगठनों ने दस बालिकाओं को गोद लिया*

सुकन्या समृद्धि योजना में कमिश्नर ने एक बालिका को गोद लेकर की योजना अंतर्गत जमा की जाने वाली राशि प्रदान करते हुए खाता खुलवाया।शिविर में 10 बालिकाओं के लिए विभिन्न संगठनों के द्वारा गोद लिया गया।


Thursday 25 January 2024

January 25, 2024

भाजपा प्रदेश कार्यालय भोपाल में गांव चलो अभियान को लेकर कार्यशाला का आयोजन

 भाजपा प्रदेश कार्यालय भोपाल में गांव चलो अभियान को लेकर कार्यशाला का आयोजन

राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री, प्रदेश अध्यक्ष एवं प्रदेश संगठन महामंत्री ने कार्यशाला को किया संबोधित 

9 से 11 फरवरी तक प्रदेश के गांव और नगरीय बूथों पर कार्यकर्ता बितायेंगे 24 घंटे

संगठन की रीति नीति और सरकार के कार्यो को लेकर प्रत्येक बूथ पर होगा संपर्क एवं संवाद

संजय शर्मा संपादक 
हैलो धार पत्रिका/ हैलो धार न्यूज़ पोर्टल

  भोपाल। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश कार्यालय में गांव चलो अभियान के संबंध में कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में पार्टी के राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री और गांव चलो अभियान के राष्ट्रीय प्रभारी  शिवप्रकाश जी ने गांव चलो अभियान के संबंध में प्रेजेंटेशन देकर प्रदेश के भाजपा पदाधिकारियों को जानकारियां दी। कार्यशाला को प्रदेश अध्यक्ष व सांसद  विष्णुदत्त शर्मा, प्रदेश संगठन महामंत्री हितानंद जी ने संबोधित कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

भारत के विकास में गांवों का विकसित होना जरूरी-  शिवप्रकाश जी


  पार्टी के राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री और गांव चलो अभियान के राष्ट्रीय प्रभारी श्री शिवप्रकाश जी ने कार्यशाला को संबोधित करते हुए कहा कि भारत केवल विकसित गांवों के साथ ही विकसित हो सकता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के इसी संकल्प को लेकर गांव चलो अभियान की शुरूआत की गई है। इसका मकसद सभी गांवों तक केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं को पहुंचाना है। श्री शिवप्रकाश जी ने कहा कि अभियान की तैयारियां 3 फरवरी तक की जाएंगी। कार्यकर्ताओं का प्रवास 9 से 11 फरवरी तक रहेगा और तृतीय चरण में समीक्षा बैठक 14 फरवरी तक होगी। मध्यप्रदेश में 3 फरवरी से पहले जिला और मंडल स्तर पर कार्यशालाओं का आयोजन किया जाएगा। 

गांव चलो अभियान के माध्यम से 58 प्रतिशत वोट हासिल करना लक्ष्य -  विष्णुदत्त शर्मा


  कार्यशाला को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष व सांसद विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि 22 जनवरी से रामराज्य की शुरूआत हो चुकी है। दुनिया की नजर हमारे देश पर है। केन्द्र एवं राज्य सरकार की योजनाओं को धरातल पर गांव चलो अभियान के माध्यम से उतारकर 58 प्रतिशत वोट हासिल करने का लक्ष्य हासिल करना है। श्री शर्मा ने कहा कि लोकसभा चुनाव में जब कार्यकर्ता लोगों को अपनी बात कहेंगे तो लोगों का उस पर विश्वास ज्यादा होगा क्योंकि चाहे केंद्र की योजनाएं हो या फिर राज्य की सभी का लाभ हितग्राहियों को मिल रहा है और वो अब पार्टी के कार्यकर्ता को सम्मान की नजर से देखते हैं। 


  श्री शर्मा ने कहा कि हमारा प्रयास है कि अंतिम पंक्ति के अंतिम व्यक्ति तक प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी जी की योजना का लाभ पहुंचे। प्रधानमंत्री जी देश को लगातार मजबूत कर रहे है। पिछले कई वर्षों में सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास अर्जित किया है। जिसके माध्यम से अंतिम व्यक्ति तक केन्द्र एवं प्रदेश सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं को पहुंचाना हमारा लक्ष्य है। श्री शर्मा ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव, मंत्रिमंडल के सदस्य, प्रदेश पदाधिकारी, जनप्रतिनिधि एवं कार्यकर्ता 9 से 11 फरवरी तक पूरे प्रदेश में गांव एवं नगरीय बूथों पर भाजपा की रीति नीति, केंद्र एवं राज्य सरकार की योजनाओं का प्रचार प्रसार करेंगे। विधानसभा चुनाव में जिन बूथों पर हमें हार मिली है उसको जीतना एवं जीते हुए बूथों पर 10 प्रतिशत वोट शेयर बढ़ाना एकमात्र लक्ष्य होगा। 

मतदाताओं तक पहुंचना लक्ष्य होना चाहिए -  हितानंद शर्मा 


  प्रदेश संगठन महामंत्री  हितानंद शर्मा  ने कहा कि मतदाताओं तक पहुंचना इस अभियान का लक्ष्य है, ताकि सभी को मतदान करने के साथ-साथ योजनाओं की जानकारी मिल सके।  हितानंद जी ने कहा कि मतदाता सूची में जिनके नाम नहीं हैं और जिन्हें इसकी जानकारी नहीं हैं उनकी मदद करके उनका नाम जुड़वाना भी कार्यकर्ता को प्रमुखता के साथ करना होगा। अगर कही फर्जी मतदाता की जानकारी मिलती है तो उसकी जानकारी भी प्रशासन को देकर सहयोग करना होगा, ताकि फर्जी मतदान को रोका जा सके। बैठक के दौरान मंच पर गांव चलो अभियान के प्रदेश संयोजक श्री विजय दुबे उपस्थित थे। मंच का संचालन विधायक श्री तेज बहादुर सिंह ने किया।


  इस अवसर पर बैठक में प्रदेश महामंत्री व विधायक  भगवानदास सबनानी, प्रदेश उपाध्यक्ष श्रीमती सीमा सिंह, प्रदेश महामंत्री व सांसद सुश्री कविता पाटीदार, प्रदेश महामंत्री  रणवीर सिंह रावत, प्रदेश मंत्री रजनीश अग्रवाल, प्रदेश कार्यालय मंत्री डॉ. राघवेंद्र शर्मा, प्रदेश मीडिया प्रभारी  आशीष अग्रवाल सहित पार्टी के प्रदेश पदाधिकारी एवं गांव चलो अभियान के पदाधिकारी उपस्थित थे।





Monday 22 January 2024

January 22, 2024

अयोध्या में श्रीरामलला के प्राण प्रतिष्ठा मंदिर में विराजे रामलला

 अयोध्या में श्रीरामलला के प्राण प्रतिष्ठा मंदिर में विराजे रामलला 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा 'राम आग नहीं, ऊर्जा हैं... राम सिर्फ हमारे नहीं, सबके हैं'

मोदी जी में कहा देव से देश और राम से राष्ट्र निर्माण करना है 

संजय शर्मा संपादक 
हैलो धार पत्रिका/ हैलो धार न्यूज़ पोर्टल

 अयोध्या।  अयोध्या में श्रीरामलला के प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम सोमवार को पूरा हो गया। मोदी बतौर मुख्य यजमान हल्के पीले रंग की धोती और कुर्ता पहनकर 12 बजे मंदिर परिसर में पहुंचे। उनके हाथ में एक थाल थी, जिसमें श्रीरामलला का चांदी का छत्र था। संकल्प के साथ प्राण प्रतिष्ठा की विधि 12 बजकर 5 मिनट पर शुरू हुई, जो 1 घंटे से ज्यादा समय तक चली।


प्रधानमंत्री ने भगवान की आरती कर चंवर डुलाया। मुख्य पुजारी सत्येन्द्र दास से कलावा बंधवाया और उनके पैर छुए। इसके बाद उन्होंने श्रीरामलला की परिक्रमा की और साष्टांग प्रणाम किया। उन्होंने राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास के भी पैर छुए। PM ने अपना 11 दिन का व्रत भी तोड़ा।

प्राण प्रतिष्ठा के बाद PM ने लोगों को संबोधित किया। 35 मिनट की स्पीच PM ने राम-राम से शुरू की और जय सियाराम पर खत्म किया। उन्होंने देशवासियों को बधाई दी और कहा- कुछ तो कमी थी जो मंदिर बनने में सदियां लग गईं। ये राम मंदिर भारत के उत्कर्ष-उदय का साक्षी बनेगा। PM 4 बजे दिल्ली लौट गए।

 मंदिर बनने पर: आज की तारीख हजारों साल याद रखी जाएगी

मोदी बोले- रामलला अब टेंट में नहीं, दिव्य मंदिर में रहेंगे। राम मंदिर के निर्माण के बाद से देशवासियों में नया उत्साह पैदा हो रहा था। आज हमें सदियों की धरोहर मिली है, श्रीराम का मंदिर मिला है। 22 जनवरी, 2024 का ये सूरज एक अद्भुत आभा लेकर आया है। ये कैलेंडर पर लिखी एक तारीख नहीं, बल्कि ये एक नए कालचक्र का उद्गम है। लोग इसे हजारों साल याद करेंगे।

 कोर्ट के फैसले पर: न्यायपालिका ने लाज रख ली

PM ने कहा- मैं प्रभु राम से क्षमा याचना करता हूं। हमारे त्याग, तपस्या, पूजा में कोई तो कमी रह गई होगी कि इतने साल मंदिर निर्माण का काम नहीं हो पाया। आज ये कमी पूरी हुई। मुझे विश्वास है कि प्रभु राम हमें क्षमा करेंगे। भारत के संविधान की पहली प्रति में राम विराजमान हैं। दशकों तक प्रभु राम के अस्तित्व पर कानूनी लड़ाई चली। मैं न्यायपालिका का शुक्रगुजार हूं कि उसने लाज रख ली।

 देश में दीपावली मनाई जा रही, राम ज्योति जल रही

आज गांव-गांव में कीर्तन-संकीर्तन हो रहे हैं। स्वच्छता अभियान चल रहा है। देश दीपावली बना रहा है। आज शाम घर-घर राम ज्योत जलेगी। कल मैं धनुषकोडि में था। जिस घड़ी राम समुद्र पार करने निकले थे, उसे कालचक्र बदला था। अब कालचक्र फिर बदलेगा।

मैं सौभाग्यशाली हूं कि अनुष्ठान के दौरान सागर से सरयू तक की यात्रा का मौका मिला। राम भारतवासियों के मन में विराजे हुए हैं। किसी के भी मन को छुएंगे तो एकत्व की अनुभूति होगी। मुझे देश के कोने-कोने में रामायण सुनने का अवसर मिला।

राम भक्तों को नमन किया, कारसेवकों को याद किया

प्रधानमंत्री ने कहा- ऋषियों ने कहा है कि जिसमें रम जाएं, उसी में राम है। हर युग में लोगों ने राम को जिया है। हर युग में लोगों ने अपने-अपने शब्दों, अपनी-अपनी तरह राम को व्यक्त किया है। ये राम रस निरंतर बहता रहता है। आज के इस ऐतिहासिक समय में देश उन व्यक्तित्वों को भी याद कर रहा है, जिनकी वजह से शुभ दिन देख रहे हैं।


प्रधानमंत्री ने कहा- हम उन अनगिनत कारसेवकों, संत-महात्माओं के ऋणी हैं। आज उत्सव का क्षण तो है ही, साथ ही ये क्षण भारतीय समाज की परिपक्वता का भी है। ये क्षण विजय ही नहीं, विनय का भी है। कई राष्ट्र अपने ही इतिहास में उलझ जाते हैं।

राम विवाद नहीं, राम समाधान हैं

प्रधानमंत्री ने कहा- जब भी उन्होंने इतिहास की गांठें सुलझाने का प्रयास किया तो मुश्किल परिस्थितियां बन गईं। हम जिस गांठ को भावुकता और समझदारी के साथ खोला है, वो बताता है कि भविष्य बहुत सुंदर होने जा रहा है। कुछ लोग कहते थे कि राम मंदिर बना तो आग लग जाएगी। राम मंदिर किसी आग को नहीं, ऊर्जा को जन्म दे रहा है।

ये समन्वय, उज्ज्वल भविष्य के पथ पर बढ़ने की प्रेरणा लेकर आया है। राम आग नहीं, ऊर्जा हैं। राम विवाद नहीं, राम समाधान हैं। राम सिर्फ हमारे नहीं, सबके हैं। राम वर्तमान नहीं, अनंत काल हैं। ये मंदिर महज देव मंदिर नहीं, भारत की दृष्टि-दर्शन का मंदिर है। राम भारत का विचार-विधान है।

राम भारत का चिंतन, चेतना, प्रवाह, प्रभाव, नेति, निरंतरता है। राम विश्व है, विश्वात्मा हैं। इसलिए जब राम की स्थापना होती है तो उसका प्रभाव हजारों वर्षों के लिए होता है। आज के युग की मांग है कि हमें अंत:करण को विस्तार देना होगा।

. मां शबरी को भरोसा था- राम आएंगे

मोदी बोले- हनुमान जी की भक्ति, उनका समर्पण ऐसे गुण हैं, जिन्हें बाहर नहीं खोजना पड़ता। यही तो देव से देश और राम से राष्ट्र की चेतना का विस्तार है। दूर कुटिया में जीवन गुजारने वाली मां शबरी का ध्यान आता है। वो हमेशा कहती थीं- राम आएंगे। ये सच हुआ है।

प्रधानमंत्री ने कहा- निषादराज की मित्रता सब बंधनों से परे हैं। सब समान हैं। मैं तो बहुत सामान्य हूं, मैं तो बहुत छोटा हूं, कोई ये सोचता है तो उसे राम की मदद करने वाली गिलहरी का ध्यान करना चाहिए। सबका अपना योगदान होता है। यही दिव्य और समर्थ भारत बनने का कारण बनेगा।

मंदिर तो बन गया अब आगे क्या

प्रधानमंत्री ने कहा- हमें नित्य पराक्रम, पुरुषार्थ का प्रसाद प्रभु राम को चढ़ाना होगा। तभी भारत को वैभवशाली बना पाएंगे। आज भारत युवाशक्ति की ऊर्जा से भरा है। हमें अब झुकना नहीं है, अब बैठना नहीं है। मैं युवाओं से कहूंगा कि आपके सामने हजारों सालों की प्रेरणा है।

युवाशक्ति चांद पर तिरंगा फहरा रही है तो 15 लाख किमी दूर अंतरिक्ष में यान पहुंचा रही है। आने वाला समय अब सफलता का है। आने वाला समय सिद्धि का है। ये राम मंदिर भारत के उत्कर्ष-उदय का साक्षी बनेगा। मंदिर सिखाता है कि लक्ष्य प्रमाणित हो तो उसे हासिल किया जा सकता है। शताब्दियों की प्रतीक्षा के बाद हम यहां पहुंचे हैं। अब हम रुकेंगे नहीं।

प्रधानमंत्री के 11 दिन का व्रत स्वामी गोविंददेव ने तुड़वाया

प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम पूरा होने के बाद प्रधानमंत्री सार्वजनिक कार्यक्रम में शामिल हुए। मंदिर परिसर में श्रीराम मंदिर तीर्थ क्षेत्र के कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंददेव, संघ प्रमुख मोहन भागवत, योगी आदित्यनाथ ने संबोधित किया। इसके बाद प्रधानमंत्री को बोलना था।


प्रधानमंत्री की स्पीच से पहले श्रीराम मंदिर तीर्थ क्षेत्र के कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंददेव ने भगवान राम का चरणामृत पीलाकर उनका व्रत खुलवाया। प्रधानमंत्री 12 जनवरी से 11 दिन के उपवास पर थे।

प्रधानमंत्री ने श्रीरामलला की प्राण प्रतिष्ठा से पहले 11 दिन के अनुष्ठान के दौरान उपवास, जप और गाय की पूजा की। वे 11 दिन तक फर्श पर सोए और सिर्फ नारियल पानी पीकर, फल खाकर रहे। मोदी इस दौरान रामायण से जुड़े 4 राज्यों के 7 मंदिरों में दर्शन-पूजन भी किए।


Friday 5 January 2024

January 05, 2024

औद्योगिक नगरी पीथमपुर और ग्राम सतीपुरा की विकसित भारत संकल्प यात्रा में पहुंचे मंत्री नागर सिंह चौहान

 औद्योगिक नगरी पीथमपुर  और ग्राम सतीपुरा की विकसित भारत संकल्प यात्रा में पहुंचे मंत्री नागर सिंह चौहान 

इस यात्रा का मुख्य उद्देश्य  वंचित रहे  पात्र हितग्राही को योजना का लाभ मिले - मंत्री नागर सिंह चौहान 

संजय शर्मा संपादक 
हैलो धार पत्रिका/ हैलो धार न्यूज़ पोर्टल

     धार। प्रदेश की  औद्योगिक नगरी में  विकसित भारत संकल्प यात्रा का यह कार्यक्रम आयोजित किया गया है ।  इस यात्रा का मुख्य उद्देश्य वंचित रहे पात्र हितग्राही को योजना का लाभ मिले। जब से मोदी जी की सरकार बनी है विकास कार्य निरंतर किए जा रहे हैं । हर गरीब व्यक्ति का सपना होता है कि उसका स्वयं का पक्का मकान हो इस सपने को हमारी सरकार पूरा कर रही है । महिलाओं को खाना बनाने में सहूलियत के लिए उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन दिए जा रहे है । जिससे उन्हें परेशानी का सामना न करना पड़े। यह बात  प्रदेश के वन, पर्यावरण एवं अनुसूचित जाति विकास विभाग मंत्री नागर सिंह चौहान ने पीथमपुर  के बस स्टैंड परिसर में आयोजित विकसित भारत संकल्प यात्रा के कार्यक्रम में कहीं।  


     उन्होंने कहा कि  इस यात्रा का मकसद है कि हर पात्र व्यक्ति को शासकीय योजनाओं का लाभ मिल सके। प्रदेश की लाखों बहनों को लाडली बहाना योजना के तहत प्रतिमाह राशि मिल रही है। हमारी सरकार पंक्ति के अंतिम व्यक्ति  तक की चिंता करती है और उसको लाभ प्रदान करने का प्रयास करती है । कार्यक्रम में उन्होंने सभी को शपथ दिलवाई।


 कार्यक्रम में सांसद छतर सिंह दरबार ने कहा कि हमारी सरकार निरंतर आम जनता के लिए विकास कार्य कर रही है।   पंक्ति के अंतिम व्यक्ति को भी  योजना का लाभ दिया जा रहा है। अब गांव गांव को जोड़ने के लिए आवागमन के  लिए पक्की सड़क की सुविधा  है ,जिससे विकास की गति और बढ़ रही है।  प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में विकसित भारत का संकल्प पूरा होगा। 


विधायक  नीना वर्मा ने कहा कि सरकार का प्रयास है कि हर पात्र व्यक्ति को हितलाभ मिले।  जन -जन तक लाभ पहुंचाने के लिए यह यात्राएं चालू की गई है । वह व्यक्ति जो हितलाभ लेने से वंचित रह गया था, वह अपना आवेदन इस यात्रा के माध्यम से दें l हमारी सरकार महिलाओं को योजना का लाभ देकर उन्हें सशक्त बना रही है।  अब योजनाओं को धरातल तक पहुंचा जा रहा है। 


कलेक्टर  प्रियंक मिश्रा ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिले में यात्रा के दौरान दिए जा रहे लाभ   और यात्रा की रूपरेखा से अवगत कराया। उन्होंने कहा की यह यात्रा 26 जनवरी तक चलेगी और  रूट चार्ट के अनुसार यात्रा गांव गांव जाएगी। 


 कार्यक्रम का शुभारंभ अतिथियों द्वारा  दीप प्रज्वलन व कन्या पूजन कर किया गया।  इसके बाद बालिकाओं ने स्वागत गीत पर नृत्य प्रस्तुत किया। स्कूल की छात्राओं द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया और बालक ,बालिकाओं द्वारा ताइकांडो का प्रदर्शन भी किया गया। कार्यक्रम में मेरी कहानी मेरी जुबानी में हितग्राही  शीला पथरिया, राधा रामकमल और  धर्मेंद्र ने योजना के तहत मिले लाभ से सभी को अवगत कराया। अतिथियों द्वारा विभिन्न योजनाओं में लाभांवित हितग्राहियों को हितलाभ  व दिव्यांगजनो को साइकिल का वितरण किया।



  अतिथियों द्वारा कार्यक्रम स्थल पर लगे विभिन्न योजनाओं के स्टालों का भी निरीक्षण किया गया और प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर योजना के हितग्राही मोहित सैनी और  कन्हैयालाल राय के ठेले पर पहुंचकर उनसे चर्चा की। अतिथियों द्वारा दीनदयाल रसोई केंद्र पहुंचकर भोजन भी किया।


कार्यक्रम में पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह, नगर पालिका अध्यक्ष पीथमपुर  सेवंती पटेल, पूर्व कैबिनेट मंत्री  रंजना बघेल, पूर्व सांसद  सावित्री ठाकुर, प्रदेश मंत्री जयदीप पटेल, भाजपा जिलाध्यक्ष  मनोज सोमानी,भाजपा नेता विनोद शर्मा,संजय वैष्णव,प्रकाश धाकड़ जीवन रघुवंशी निलेश भारती भाजपा मंडल अध्यक्ष सहित अन्य जनप्रतिनिधि व बड़ी संख्या में आम नागरिक मौजूद थे।


  इसके बाद मंत्री श्री चौहान विकासखंड गंधवानी के ग्राम सतीपुरा पहुंचे और यहां आयोजित विकसित भारत संकल्प यात्रा में सम्मिलित हुए।  जिला पंचायत अध्यक्ष  सरदार सिंह मेड़ा, भाजपा जिला उपाध्यक्ष विश्वास पांडे, एसडीएम श्रीमति रोशनी पाटीदार सहित अन्य जनप्रतिनिधि आमजन मौजूद थे। उक्त जानकारी जिला मीडिया प्रभारी संजय शर्मा ने दी।