HelloDharNews

HelloDharNews Hindi news Website, Daily Public News, political, crime,filmy, Media News,Helth News

Breaking

Saturday, 13 July 2019

धार जिले में नकली आईपीएस अधिकारी गिरफ्तार एसपी आदित्य प्रताप सिंह ने किया खुलासा

धार जिले में नकली आईपीएस अधिकारी गिरफ्तार एसपी आदित्य प्रताप सिंह ने किया खुलासा 

आईपीएस अधिकारी बनकर करता था लाखो की वसूली ,नौ लाख रुपए नकद बरामद

पुलिस अधिकारी के रूप में मोबाइल में डाली थी फोटो। ...जबकि पुलिस रुपए नहीं मांगती- कोई मांगे तो वरिष्ठ अफसरों को...
धामनोद के ढाबा संचालक से दो सोने की चेन और 30 हजार नकद ले गया था 
संजय शर्मा संपादक 
हैलो - धार पत्रिका 
         धार /धामनोद - पुलिस ने नकली आईपीएस अधिकारी बनकर लोेगों को ठगने वाले एक व्यक्ति को पकड़ा है। यह व्यक्ति राजस्थान के ब्यावर का निवासी है और ढाई महीने से क्षेत्र में सक्रिय था। धामनोद के ढाबा संचालक को वर्दी, पद और पैसे का रौब दिखाकर दो सोने की चेन और नकद 30 हजार रुपए ले गया था। उसके पास से आईपीएस अधिकारी की दो वर्दी, कैप, बेल्ट, नौ लाख रुपए नकद, कुछ दस्तावेज, आईफोन आदि बरामद किए गए हैं। धामनोद पुलिस के अनुसार पकड़े गए व्यक्ति का नाम श्यामसुंदर पिता सत्यनारायण शर्मा है। उसे धामनोद के ढाबा संचालक अनूप जाट की शिकायत पर पकड़ा है। शनिवार को देर शाम धार  एसपी आदित्य प्रताप सिंह ने किया खुलासा। 
लोकसभा चुनाव के समय आया, बोला- जल्द ही मैं एसपी बन जाऊंगा 
           यह व्यक्ति लोकसभा की वोटिंग वाले दिन आया था। नाम एसएस शर्मा आईपीएस बताया था। कहा एएसपी हूं और एसपी बन जाऊंगा। बैंगलुरू से इंदौर ट्रांसफर होकर आया हूं। कमिश्नर ऑफिस में रूम नंबर नौ है, जहां मैं बैठता हूं। आओ कभी कमिश्नर ऑफिस में । 20-25 दिन पहले गंगा दशहरे पर फिर आया। ढाबे से फिर नर्मदा घाट निमरानी और बलगांव गए थे। बलगांव में गोशाला के पदाधिकारी अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सरकारी डॉक्टर और मौनी बाबा जो गोशाला की सर्वेसर्वा हैं। सभी को बुलाया। गोशाला के सारे कागज बुलवाए, रजिस्ट्रेशन देखा। निमरानी और बलगांव गोशाला को एक-एक एंबुलेंस और दस लाख रुपए टीनशेड के लिए देने की घोषणा की। बताया बी-60 नाम की रसीद कटवाकर दूंगा ताकि दानदाता को टैक्स नहीं लगेगा। रसीद बनाने के लिए 29500 मांगे थे और 30 हजार रुपए लिए थे। दो साेने की चेन गले में देखी तो कहा ये मैं ले जा रहा हूं, परसों दे दूंगा। चेन करीब सवा लाख रुपए की थी। धामनोद से एक कार चालक राकेश चौहान को लेकर गया था। उसको सतारा ले गया था। वहां होटल में रुका, फिर बड़ौदा ले गया वहां छोड़ा। वहां पर बताया दोनों होटलें उसकी हैं। बाद में शक हुआ कि यह फ्रॉड व्यक्ति है। फिर शुक्रवार को रात को 9 बजे के फोन आया था कल आ रहा हूं। विश्वास नहीं था कि आज आ जाएगा। जिस कार से आया था उसका ड्राइवर रमेश इंदौर का है। ड्राइवर सीट पर ड्रेस टंगी थी और बेल्ट हेंड ब्रेक के पास रखा था। पुलिस की कैप लगाकर आया था। शनिवार दोपहर करीब 12 बजे आया था। बी-60 की रसीद और दोनों चेन लेकर आया था। थाने पर जानकारी दी। टीआई दिलीप चौधरी ने पुलिस जवान को भेजा। थाने ले गए। नौ लाख रुपए इसके पास से मिले। 

No comments:

Post a Comment