HelloDharNews

HelloDharNews Hindi news Website, Daily Public News, political, crime,filmy, Media News,Helth News

Breaking

Friday, 20 April 2018

साइबर क्राइम से बचने के लिए जागरूक होना जरुरी -वरुण कपूर एडीजी

साइबर क्राइम से बचने के लिए जागरूक होना जरुरी -वरुण कपूर एडीजी 

              धार -संस्था जय हो के सहयोग से पोलीटेक्नीकल कॉलेज धार सेमिनार हॉल में नारकोटिक्स अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक एंव साइबर सिक्योरिटी विशेषज्ञ श्री वरुण कपूर द्वारा एक साइबर कार्यशाला आयोजित की गई जिसमे संस्था जय हो पदाधिकारी एंव कॉलेज स्टूडेण्ट ने सहभागिता की सर्व प्रथम माँ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण व  दिप प्रज्वलित कर शुभारंभ किया। 

           एडीजी वरुण कपूर सर का संस्था  जय हो से डॉ अशोक शास्त्री ,धर्मेंद्र जोशी ,संजय शर्मा ,डॉ तरुण जोशी ने स्वागत किया  अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक वरुण कपूर सर ने अपने उद्बोधन में कहा की अब समय आ गया है की नागरिक साइबर स्पेस में सुरक्षित व्यवहार के महत्व को समझें और उस पर ध्यान दे यह अपनी और अपने प्रिय जनो की सुरक्षा की पहली शर्त है यह कथित आभासी दुनिया भले ही भौतिक रूप मौजूद नहीं होती लेकिन यह भयंकर है और लापरवाही बरतने पर यह वास्तविक दुनिया में उसी तरह की बरती जाने वाली लापरवाही की तुलना में अत्यधिक नुकसान पंहुचा सकती है  साइबर क्राइम से बचने के लिये जागरूक होने की जरुरत है।  हमें ज्यादा से ज्यादा जानकारी होना चहिए ,डिजीटल युग में अपराध से बचाव के लिए आई. टी एक्ट की जानकारी होना चाहिए श्री कपूर ने कहा की पिछले 5 वर्षो में 1700 प्रतिशत साइबर क्राइम बड़े है  ,यह मेरी देश में 272 वीं साइबर जागरूक कार्यशाला है। 
     इस कार्यशाला की पांच प्रमुख सीख है  -1  जागरूक रहे असली और वर्चुअल वर्ल्ड में सुरक्षा की मानसिकता बनाए, 2  शॉटकट और लालच से बचे ,3 जो भी करे उससे पहले एक बार सोचें ,4 ज्यादा से ज्यादा जानकारी  और ज्ञान रखे ,5 किसी बात पर आँख बंद करके विश्वास नहीं करे कार्यशाला में श्रेष्ठ जवाब देने पर  एडीजी द्वारा स्टूडेंट शुभम चौधरी व  निधि को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया। 
       इस अवसर पर कॉलेज प्राचार्य शशांक  तिलवनकर ,डीएसपी सुभाष सिंह ,संस्था जय हो से डॉ अशोक शास्त्री ,धर्मेंद्र जोशी ,संजय शर्मा ,डॉ तरुण जोशी ,नीलेश जोशी ,सुनील राठौर ,अजय चौधरी ,अमर सिंह पारा सहित कॉलेज स्टाफ उपस्थित थे आभार डॉ अशोक शास्त्री ने माना 

No comments:

Post a Comment