HelloDharNews

HelloDharNews Hindi news Website, Daily Public News, political, crime,filmy, Media News,Helth News

Breaking

Tuesday, 17 April 2018

भरतगढ़ में 70 साल के बुजुर्ग की लाठी कुल्हाड़ी व पत्थर से की थी हत्या

भरतगढ़  में 70 साल के बुजुर्ग की लाठी कुल्हाड़ी व पत्थर से की थी हत्या
  

हेलोधार न्यूज़ 
धर्मेंद्र अग्निहोत्री बदनावर 
        बदनावर- ग्राम भरतगढ में सोमवार को दिनदहाडे 70 साल के बुजुर्ग की पत्थर व कुल्हाडी से वार कर जघन्य हत्या कर दी गई। मृतक का नाम शंकर पिता नानूराम भील निवासी भरतगढ बताया गया है। अभी मारने वालों के नाम सामने नहीं आए है। किंतु आशंका है कि 2 साल पहले मृतक के जिस पुत्र की हत्या हुई थी। उसी के परिवार वालों ने इस घटना को अंजाम दिया। 
सोमवार रात में पुलिस को सूचना मिली थी कि गांव में शंकर का मर्डर हो गया है। सूचना पर टीआई सुनील गुप्ता व अन्य पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे  तथा शव को अस्पताल पहुँचाया । शव के साथ मृतक का पुत्र दिलीप व अन्य रिश्तेदार आए। मृतक का मंगलवार सुबह पोस्टमार्टम किया गया। धार से आई एफएसएल अधिकारी पिंकी मेहरडे ने भी शव परीक्षण एवं मौका मुआयना कर आवश्यक जांच पडताल की तथा मिटटी व खून आदि के नमूने लिए। 
        मृतक के पुत्र दिलीप ने बताया कि गांव में उसके पिता कोटेश्वर से स्नान कर दोपहर में घर लौटे थे और भेरु जुझार के ओटले पर बैठे थे तभी आरोपियों ने लाठी, कुल्हाडी व पत्थरों से अचानक हमला कर दिया। वे बचाव के लिए दौडे किंतु आरोपियों ने पीछाकर उन्हें घेरकर मार डाला। उनका शव चार पांच घंटे तक मौके पर पडा रहा। किंतु किसी ने पुलिस को सूचना नहीं दी। 
        मालूम हो कि मृतक के एक अन्य पुत्र परमेश ने अपने दो साथियों शोभाराम भील निवासी भीलखेडी व जितेंद्र भील प्रीतमनगर के साथ मिलकर मृतक पिता शंकर के सहयोग से अपने दूसरे भाई छगनलाल की गत 23 मई 2016 की रात में तलवार मारकर जघन्य हत्या कर दी थी। तब से ही मृतक शंकर व तीनों अन्य आरोपी जेल में बंद थे। कुछ दिन पूर्व ही उनकी जमानत हुई थी। तब से ही मारे गए छगनलाल के लडके व अन्य घरवाले बदला लेने की ताक में थे। आशंका है कि इस वारदात में उनका भी हाथ हो सकता है। पुलिस ने अभी मर्ग कायम कर मामला जांच में लिया है। पीएम रिपोर्ट आने के बाद देर शाम तक प्रकरण दर्ज होने की संभावना हैं हत्याकांड में जिन लोगों के शामिल होने की अभी शंका है। वे फरार बताए गए है।  

No comments:

Post a Comment