HelloDharNews

HelloDharNews Hindi news Website, Daily Public News, political, crime,filmy, Media News,Helth News

Breaking

Monday, 27 July 2020

जिले में कोविड-19 का रिकवरी रेट 65 प्रतिशत से बढ़कर अब 72 प्रतिशत हुआ, पिछले 8 दिनों में लगभग 105 पेशेंट्स स्वस्थ होकर अपने घर की ओर लौटे

जिले में कोविड-19 का रिकवरी रेट 65 प्रतिशत से बढ़कर अब 72 प्रतिशत हुआ, पिछले 8 दिनों में लगभग 105 पेशेंट्स स्वस्थ होकर अपने घर की ओर लौटे

संजय शर्मा संपादक 
हैलो धार पत्रिका 
                   धार -  जिले के लिये अब अच्छी खबर आ रही है क्योंकि जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारियों, चिकित्सकों, नर्स तथा स्टाफ के अथक प्रयासों से अब जिले में कोविड-19 केसेज़ का रिकवरी रेट बढ़ रहा है। पिछले 8 दिनों में लगभग 105 पेशेंट्स स्वस्थ होकर अपने घर की ओर लोटे है। जिले में आज की स्थिति देखी जाए तो अभी तक 355 पॉजिटिव केसेज़ आ चुके है। जिनमें 276 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो चुके है। 10 पेशेंट्स की मृत्यु हो चुकी है, अब जिले में एक्टीव केसेज़ 74 रह गई है। जिनमे से 69 जिले के कोविड केयर सेंटरों में तथा शेष 9 पेशेंट्स जिले के बाहर भर्ती है। इसके साथ ही अब जिले में स्वस्थ होने का रिकवरी रेट भी बढ़ चुका है पहले रिकवरी रेट 65 प्रतिशत था जो अब बढ़कर 72 प्रतिशत हो चुका है, जो करीब 7 प्रतिशत की वृद्धि है ।स्वास्थ्य विभाग का अमला कहता है कि हम संक्रमितों को स्वस्थ रखने में कामयाब हो रहे हैं, वहीं यह स्पष्ट करना महत्वपूर्ण है कि संकट अभी टला नही है, सभी नागरिकों से अपेक्षा है कि वे जिम्मेदारी निभाते हुए समस्त उपायों एवं सावधानियों का अनिवार्य रूप से पालन करें। स्वस्थ होकर घरों के लिए डिस्चार्ज किए गए व्यक्तियों ने जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारियों, चिकित्सकों, नर्स तथा स्टाफ एवं सभी के प्रति आभार व्यक्त किया है। सभी का कहना था कि उन्हें कोविड केयर सेंटर में किसी भी प्रकार की तकलीफ नही हुईं। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा उनका नियमित रूप से उत्साह वर्धन किया, जिससे उन्हें कोरोना से लड़ने की ऊर्जा प्राप्त हुई एवं वे कोरोना को हराने में सफल रहे। सभी ने चिकित्सकीय स्टाफ द्वारा दिए गए समस्त निर्देशों के अनुपालन की बात कही।
                   प्रदेश सरकार के द्वारा कोविड-19 के अंतर्गत कोरोना संक्रमित मरीजो को उपचार देने की दिशा में भरसक प्रयास किये जा रहे है। इन प्रयासो को धार जिले में प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से निरंतर गति प्रदान की जा रही है। कोरोना संक्रमण का ईलाज संभव है। हर आयु का व्यक्ति इस संक्रमण से स्वस्थ हो सकता है। कोरोना से बचाव के लिए स्व-अनुशासन और आत्म नियंत्रण अपनाना है। कोरोना से बचाव के लिए स्वअनुशासन में सार्वजनिक स्थलों पर सोशल डिस्टेंसिंग के पालन और आत्मनियंत्रण में अच्छे खानपान की आदतें अपनाकर शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाएं।
       जिला स्वास्थ्य एवं महामारी नियंत्रण अधिकारी डॉ संजय भंडारी ने बताया कि कोविड-19 के पॉजिटिव पेशेंट्स का कोविड सेंटर पर अपनो सा व्यहार कर उनकी देखभाल की जाती है। पॉजिटिव केसेज़ जैसे ही सेंटर पर पहुँचते है उन्हें 10 दिवसीय जरूरती दवाई एक साथ दे दी जाती है। उसके पश्चात उन्हें प्रातः काल से ही कोविड से लड़ने के लिए प्रेरित किया जाता है। सर्वप्रथम उन्हें प्रातः काल व्यायाम करवाया जाता है, इसके बाद उन्हें नाश्ते में दूध बिस्किट पोहा आलूबड़ा व अन्य सामग्री दी जाती है, इसके बाद आयुष विभाग द्वारा निर्मित काढ़े का सेवन करवाया जाता है। इसके बाद उन्हें दिन में भोजन, शाम को काढ़ा, चाय व रात में भोजन कराया जाता है। पेशेंट्स के मनोरंजन के लिए सेंटरों में टेलीविजन भी लगाया गया है, जिससे उन्हें घर जैसा माहौल मिलता रहे। छोटे बच्चो के लिए ड्राइंग बनाने की भी व्यवस्था की गई है, जिससे बच्चो का भी मनोरंजन होता रहे। 
                  डॉ भण्डारी बताते है की स्वास्थ्य विभाग के हमारे योद्धाओं इस महामारी से लड़ने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे है। फ्रंट लाइन में सर्वश्रेष्ठ टीम आरआरटी व मेडिकल मोबाइल यूनिट धार शहर की है जिनमें डॉ केएस जाधव, डॉ घनश्याम जाट, डॉ राकेश वर्मा, डॉ गौरव तिवारी, डॉ पंकज निगम, डॉ भारत शर्मा, डॉ सन्तोष श्रीकर, मेल स्टॉफ नर्स में दिनेश कुमार, रामाशंकर शर्मा, कृपालसिंह मोहबिया तथा फिजियो असिस्टेंट कमलेश चौहान है। सेम्पलिंग यूनिट टीम में सेम्पलिंग इंचार्ज डॉ जी जे जेम्स, डॉ मेघा राजावत, डॉ दिलीप, डॉ अशोक, डॉ नानूराम, स्टॉफ में गुंजन वास्केल, चित्रांशी , प्रियंका तथा चतुर्थ श्रेणी में जलाल, अशोक शामिल है। ड्राइवर टीम में मनोहर कुमार, इकरार खान, प्रदीप लश्करी, सुनील कटारे, चंदू लश्करी, शाहरुख खान बड़े, शाहरुख खान छोटे, अनिल पथरोड तथा कालूसिंह शामिल है। भोजन व्यवस्था में दीपक वर्मा, सन्दीप बोरासी,नन्दकिशोर वर्मा तथा मोहन सूर्यवंशी कार्यरत है। ट्रू नॉट लेब टीम के सदस्य पैथोलोजिस्ट डॉ अनिल वर्मा, एमओ डॉ अजय पवार, डॉ भाईलाल, डॉ प्रियंका तथा लेब टेक्नीशियन में अब्दुल, राजेश, बबलू, राकेश, एस डी बारिया तथा चतुर्थ श्रेणी के नीलेश शामिल है। 
                   डॉ भण्डारी बताते है कि बैंक ऑफ इंडिया कोविड केयर सेंटर के इंचार्ज डॉ हेमन्त नरगावे है जो कि 24 घण्टे अपनी सेवा देते है, इनके स्टॉफ में करीब 14 लोग शामिल है। एकलव्य कोविड केयर सेंटर के इंचार्ज डॉक्टर शोएब शेख है तथा इनके स्टाफ में करीब 11 लोग शामिल है। एन आर एल एम कोविड केयर सेन्टर मांडव रोड़ के इंचार्ज डॉ सोहन अनवालिया है तथा इनका करीब 7 लोगो का स्टॉफ है। जिला अस्पताल में कोविड केयर सेंटर के इंचार्ज डॉ रामा है तथा इनके साथ करीब 10 लोग कार्यरत है। इसके अलावा उत्कृष्ट क्वारन्टीन सेंटर में डॉ पंकज गोस्वामी के साथ करीब 7 लोग कार्यरत है।

No comments:

Post a Comment