HelloDharNews

HelloDharNews Hindi news Website, Daily Public News, political, crime,filmy, Media News,Helth News

Breaking

Tuesday, 9 October 2018

छिंदवाड़ा माॅडल सर्वागीण विकास का व्यापक दृष्टिकोण यह पुस्तक विकास की गीता है-धार पूर्व विधायक मोहनसिंह बुंदेला

छिंदवाड़ा माॅडल सर्वागीण विकास का व्यापक दृष्टिकोण यह पुस्तक विकास की गीता है- धार पूर्व विधायक मोहनसिंह बुंदेला 

छिंदवाडा माॅडल का हुआ विमोचन, बडी संख्या में पहुंचे जिलेभर से आमजन
संजय शर्मा 
संपादक हैलो धार 
         धार-  विकास का प्रादर्श  छिंदवाड़ा माॅडल विकास की अवधारणा का दस्तावेज है। इस पुस्तक ने न सिर्फ छिंदवाड़ा का विकास की कहानी है बल्कि यह भविष्य के विकास का रोड़  मेप भी है। छिंदवाड़ा माॅडल विकास का ऐसा मार्ग है जिस पर चल कर समुचे विकास की भावना को चरितार्थ किया जा सकता है। यह पुस्तक सिर्फ एक पुस्तक न होकर विकास का जीवंत उदाहरण भी है। उक्त विचार छिंदवाड़ा माॅडल विमोचन अवसर पर धार पूर्व विधायक मोहनसिंह बुंदेला ने व्यक्त किए। 
         धार विकास मंच द्वारा आयोजित इस विमोचन समारोह की अध्यक्षता श्रीमंत हेमेन्द्रसिंह पंवार ने की। प्रारंभ में सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्जवलन एवं माल्र्यापण कर के कार्यक्रम का विधिवत उद्घाटन किया गया। 
कार्यक्रम के आयोजक एवं प्रदेश  कांग्रेस के सचिव कुलदीपसिंह बुंदेला ने स्वागत भाषण दिया। इस पुस्तक के लेखक भास्करराव रोकडे ने पुस्तक प्रकाशन करने के अपने अनुभव से कार्यक्रम को नई ऊॅचाईयां प्रदान की तथा कहा कि अगर छिंदवाड़ा माॅडल को मैं लिपिबद्ध नही करता तो मुझसे बडा अभागा कोई नहीं होता।छिंदवाड़ा माॅडल लिखकर मैंने अपने धर्म को निभाया है और मैं यह विष्वास दिलाता हूॅ कि छिंदवाड़ा माॅडल सर्वागीण विकास का व्यापक दृष्टिकोण है। इसे विकास की गीता भी निरूपित किया।
          कार्यक्रम को नगर पालिका अध्यक्ष पर्वतसिंह चौहान, पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष निसार एहमद, डाॅ. मनोहरसिंह ठाकुर, जिला पत्रकार संघ अध्यक्ष छोटू शास्त्री, कुलदीपसिंह डंग, प्रेम पाटीदार, शकील खान आदि ने संबोधित किया। इस अवसर पर पूर्व सांसद सुरजभान सोलंकी ने संबोधित करते हुए इस पुस्तक को विकास की सोच रखने वालों के लिए मार्गदर्षन पुस्तिका बताया। तथा कहा कि छिंदवाडा पुस्तक का अध्ययन करने के बाद किसी को भी विकास के प्रति सोच और विकास को साकार करने में परेषानी नहीं आएगी क्योंकि इसमें ये सभी तथ्य दिए है जिनसे विकास न सिर्फ होता है बल्कि दौडता भी है। मंच पर पुष्पा शर्मा, लक्ष्मी जाट, सत्यषीलराव पंवार, महेन्द्र धोका, विक्रमसिंह मंडलोई, रमेषचन्द्र शर्मा, प्रमोद सेनापति, रमाकांत दुबे, कृष्णकांत पटेल, विमल जैन, उदयराम पाटीदार, भेरूलाल मुकाती, बाबूलाल चौहान, बबन अग्रवाल, जगदीश  कोष्टी, सुरेश  पटेल, फारूक कुरैशी , कैलाश  जाट, घनष्याम मेरवानी, मजहर हुसैन, सत्यनारायण पटेल आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन अजयसिंह ठाकुर ने किया एवं आभार लोकेश  मकवाना ने माना।

No comments:

Post a Comment