HelloDharNews

HelloDharNews Hindi news Website, Daily Public News, political, crime,filmy, Media News,Helth News

Breaking

Sunday, 18 March 2018

भारतीय संस्कृति में नदियाँ, पर्वत, वृक्ष, जंगल, जल और जमीन पूज्यनीय -केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर

भारतीय संस्कृति में नदियाँ, पर्वत, वृक्ष, जंगल, जल और जमीन पूज्यनीय -केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर


       
     होशंगाबाद -नर्मदा एवं तवा नदी के संगम स्थल जिले के बांद्राभान में  केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्रसिंह तोमर ने दिवंगत अनिल माधव दवे का स्मरण करते हुए कहा कि उन्होंने नदियों को सम्मानित एवं संरक्षित करने के लिए नदी महोत्सव की शुरूआत की। उनका व्यक्तित्व एवं कृतित्व अद्भुत था। वे एक सामाजिक कार्यकर्ता, चिंतक, नेता एवं स्वयंसेवक के रूप में आदर्श व्यक्तित्व थे।
     केंद्रीय मंत्री  तोमर ने कहा कि नर्मदा की महिमा अपार है। भारतीय संस्कृति में नदियों, पर्वतों, वृक्षों, जंगल, जमीन और जल की पूजा की जाती है। उन्होने कहा कि हर नदी को गंगा एवं नर्मदा के रूप में देखना चाहिए। प्रकृति का दोहन करने की स्वतंत्रता प्रकृति ने ही हमें दी है, किन्तु यदि हम प्रकृति का शोषण करेगे तो प्रकृति हमें इसका जवाब भी देगी।
        नदी महोत्सव के समापन कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा ने कहा कि नदियाँ भारत की सांस्कृतिक विरासत हैं। आदिगुरू शंकराचार्य ने नर्मदा नदी की माँ के रूप में स्तुति की है। इसी दृष्टिकोण को ध्यान में रखते हुए विधानसभा में भी प्रस्ताव पारित कर नर्मदा को जीवित इकाई की श्रेणी में माना गया है।
        समापन समारोह में तोमर और डॉ. शर्मा को अनिल माधव दवे द्वारा लिखित पुस्तक एवं छिंदवाडा में बनी उत्तरीय भेंट की गई। कार्यक्रम में फोटोग्राफर मुकुल यादव द्वारा मां नर्मदा के उद्गम स्थल से लेकर यात्रा तक के जीवंत फोटो के कैलेंडर का विमोचन किया गया। सांसद राव उदयप्रताप सिंह ने ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। शैलेन्द्र शर्मा ने बताया कि पंचम नदी महोत्सव में 175 प्रतिभागी सम्मिलित हुए। सामुदायिक नेतृत्व के 306 छात्र-छात्राओं ने इस आयोजन में अपनी सहभागिता निभाई। राजीव गांधी प्रौद्योगिकी संस्था के 35 छात्र, बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के 25 और प्रदेश के बाहर के 30 विद्यार्थियों ने महोत्सव में नदी संरक्षण पर चिंतन एवं मनन किया। इनके अलावा अन्य 380 प्रतिभागी भी इस आयोजन में शामिल हुए।

No comments:

Post a Comment