HelloDharNews

HelloDharNews Hindi news Website, Daily Public News, political, crime,filmy, Media News,Helth News

Breaking

Tuesday, 27 February 2018

आशा कार्यकर्ता, उषा, आशा सहयोगीनी संघ ने भोपाल में किया प्रदर्शन

    आशा कार्यकर्ता, उषा, आशा सहयोगीनी संघ ने भोपाल में किया प्रदर्शन
       पांच सुत्रिय मांगो को लेकर दिया ज्ञापन
संजय शर्मा संपादक "हैलो -धार न्यूज़" 

     सरदारपुर- प्रांत अध्यक्ष के आव्हान पर मध्यप्रदेश  आशा कार्यकर्ता उषा आशा  सहयोगीनी भोपाल में सेकेन्ड स्टाॅफ माता चैराहा से रेली निकाल कर सेकेन्ड स्टाॅफ स्थित अम्बेडकर मैंदान में विगत दिनों  अनुठे तरिके से आशा कार्यकर्ता उषा आशा  सहयोगीनी ने विरोध प्रदर्शन किया। धरना प्रदर्शन में  कार्यकर्ता व धार जिला अध्यक्ष संगीता मारू मोयाखेडा आदि ने जलते हुए दियो में खुन की बुंदे गीराकर विरोध जताया। तीन दिवसीय धरने में आशा  कार्यकर्ता, उषा, आशा  सहयोगीनी अतिथि शिक्षक जन स्वास्थ्य रक्षक गोरक्षक आंगनवाडी कार्यकर्ता सहायिका, रसोईयामाता आदि कर्मचारी भी शामिल हुए। धरने पर डटे  प्रदर्शनकर्ताओ  ने मांगो को लेकर नारे बाजी की। संघ के प्रांतिय अध्यक्ष संभुचरण दुबे, निखलेष पांडे समेत कई प्रदर्शनकर्ताओ  ने धरना स्थल पर ही मुंडन कराया। सभी हाथों में दिये जलाये लेकर बैठे थे। सभा भी की गई  जिसमें प्रांतिय अध्यक्ष सुमन द्विवेदी सतना, सुनिता पांडे सिंधी, किरण भोसले, गीता सौंलंकी, तबसुम खाॅन, विद्या डोढ, मधु शर्मा, मालति राठौर, किरण सिन्हा, रंजनी बाला, साधना माधव, सतना पटेल, आषा उषा सहयोगीनी संघ धार की जिला अध्यक्ष संगीता मारू सहित कई जिलों से आये पदाधिकारियों ने संबाधित किया। जिला संरक्षक शंकरलाल मारू ने बताया कि तीन दिवसीय धरना को स्थगीत कर दिया गया एवं मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन डिप्टी कलेक्टर जीती माली भोपाल को सौंपकर आषा कार्यकर्ता उषा आषा सहयोगीनियों की मांगे रखी गई। 
यह हैं मुख्य मांगेः- 
1. आशा कार्यकर्ता, उषा, आंगनवाडी कार्यकर्ता मानदेय 10 रूपये प्रतिमाह दिया जावें। 
2. आकस्मिक दुर्घटना बीमा 5 लाख रूपये दिया जावें। 
3. प्रसव उपरांत दि जाने वाली 600 रूपये की राषि को बडाकर 1 हजार रूपये प्रदान किया जावें। 
4. आशा सहयोगिनी को 6200 के स्थान पर 18000 का वेतन व इन्हें स्थाई न्युक्ति की जावें। 
5. आषा कार्यकर्ता व उषा के भुगतान में बीसीएम एवं डीसीएम द्वारा जो राशि  कांटी जाती है वह नहीं काटी जावें। 

No comments:

Post a Comment