HelloDharNews

HelloDharNews Hindi news Website, Daily Public News, political, crime,filmy, Media News,Helth News

Breaking

Friday, 13 April 2018

बदनावर के पास शराब फैक्टरी में हादसा दो की मौत दो घायल

बदनावर के पास  शराब फैक्टरी में हादसा दो की मौत दो घायल 

बोराली शराब फैक्टरी मे बायलर टूटा, हादसे मे 2 की मौत, 2 घायल

        बदनावर - लेबड - नयागांव फोरलेन पर बदनावर के पास ग्राम बोराली मे स्थित शराब फैक्टरी ओएसीस डिस्टीलरी मे बायलर टूटने से नीचे दबने के कारण दो लोगो की झुलसने से मौके पर ही मौत हो गई तथा दो अन्य घायल हुए। यह हादसा शुक्रवार शाम पौने पांच बजे हुआ। 
उस समय चार पांच कर्मचारी बायलर के पास काम कर रहे थे तभी अचानक बायलर टूटकर नीचे गिर गया। उसमे कोयला भरा हुआ था। हादसे की आवाज आते ही फैक्टरी मे काम कर रहे लोग बचाव के लिए दौडे। दो घायलो को तो कुछ देर बाद ही निकाल लिया गया। किंतु दो अन्य लोगो को करीब ढाई तीन घंटे बाद निकाला जा सका। किंतु तब तक दोनो की मौत हो चुकी थी। मृतको के नाम प्रभुदयाल पिता रूगनाथ भील 40 निवासी बुकडावदाखेडी व भारत पिता मोहन कीर निवासी कठोडिया बडा बताए गए है। जबकि अशोक पिता गेंदालाल प्रजापत 40 निवासी कराडिया व कमल पिता रामचंद्र मालवीय 32 निवासी कनवासा घायल हुए। दोनो को बाहर निकालते ही टोल प्लाजा की एंबुलेंस से सरदार पटेल हास्पिटल पिटगारा लाकर भर्ती कराया गया। जिनमे अशोक को कई जगह अंधरूनी गंभीर चोंटे आई। दोनो का प्राथमिक उपचार के बाद इंदौर रेैफर किया गया। जबकि मृतको के शव सरकारी अस्पताल लाए गए। जहां शनिवार सुबह पोस्टमार्टम किया  जाएगा। 
3 घंटे से ज्यादा समय तक अंदर दबे रहे शव, क्रेन व जेसीबी मशीन की सहायता सेे निकाला गया

           सूचना मिलते ही बदनावर से एसडीओपी कैलाश मालवीय, टीआई सुनील गुप्ता, एसआई शरद पाटील समेत पुलिसकर्मी, राजस्व विभाग के कर्मचारी व फैक्टरी संचालक सौरभ सूद, अशोक बजाज के साथ ही आसपास के गांवो के लोग बडी संख्या मे मौके पर पहुंचे व अंदर दबे हुए लोगो को निकालने मे मदद की। बायलर मोटी चद्दर का होने से उसे गैस कटर की सहायता से बडी मुश्किल से काटा जा सका। जेसीबी व क्रेन मशीन की सहायता से बायलर मे भरा कोयला निकाला गया। करीब बीस पच्चीस टन कोयला व चूरी भरी थी। फैक्टरी मे बडी संख्या मे कर्मचारी व मजदूर काम करते है। यह आसपास के गांवो के है। जैसे ही हादसे की जानकारी मिली। वैसे ही गांवो से मजदूरो के परिजन घबराए हुए फैक्टरी की ओर दौडे। फैक्टरी चालू हुए करीब 30 साल हो चुके है। किंतु इतना बडा हादसा पहली बार हुआ है। 

No comments:

Post a Comment