HelloDharNews

HelloDharNews Hindi news Website, Daily Public News, political, crime,filmy, Media News,Helth News

Breaking

Monday, 5 March 2018

प्रधानमंत्री उज्जवला योजना से गरीब महिलाओं की जिन्दगी बदल रही

गरीब महिलाओं की जिन्दगी बदल रही प्रधानमंत्री उज्जवला योजना


    भोपाल :  झाबुआ की संगीता और संध्या, खंडवा की सलिता बाई पवार और मुरैना की श्रीमती रामबेटी; ये सभी महिलाएँ कुछ समय पहले तक भोजन पकाने के लिये गैस चूल्हे के लिये तरसा करती थीं। उनके पास इतना पैसा नहीं था कि गैस कनेक्शन, चूल्हा एवं सिलेण्डर खरीद पातीं।
पौने दो साल पहले प्रधानमंत्री उज्जवला योजना में इन महिलाओं को न सिर्फ मुफ्त गैस कनेक्शन दिये गये, बल्कि उन्हें गैस चूल्हा एवं सिलेण्डर भी मुहैया करवाया गया। इससे अब इन महिलाओं और इनके परिवार की तकदीर ही नहीं, तस्वीर भी बदली नजर आ रही है। झाबुआ की संगीता पहले अपने परिवार का खाना बनाने के लिये लकड़ी और गोबर के कंडे का उपयोग करती थी। आँखों से आंसू और खांसी से बुरा हाल हो जाता था। धुएँ से बर्तनों के साथ-साथ मकान भी काला पड़ गया था। मुफ्त में मिले गैस कनेक्शन से अब झट से खाना बन जाता है, स्वास्थ्य अच्छा रहता है, बर्तन चमकते हैं तथा घर भी काला नहीं होता।
        खंडवा जिले की ग्राम नदिया निवासी सलिता बाई पवार का कहना है कि गैस चूल्हा मिलने से अब सस्ते में खाना बन जाता है, बर्तन भी काले नहीं होते और बीमारी होने का खतरा भी अब नहीं है। उज्जवला योजना से अब हालात बदल गये हैं।
       मुरैना जिले की बिलगांव क्वारी की रामबेटी अपनी खुशी जाहिर करते हुए कहती है कि चूल्हे के धुएँ से निकलने वाले आंसूओं से अब मुक्ति मिल गई है। गैस चूल्हे पर खाना जल्दी बन जाता है। पहले खाना बनाने के लिये लकड़ी और कंडे इक्कठा करने में जो समय बरबाद होता था, वह भी बचता है।
          उज्जवला योजना में हाट-बाजारों में गैस रिफिल की व्यवस्था : हरदा जिले में उज्जवला योजना के गैस कनेक्शनधारियों को उनके गाँव के निकटतम हाट-बाजारों में गैस रिफिल उपलब्ध कराने का नवाचार सफल साबित हुआ है। इस व्यवस्था से दूर-दराज के गाँव में रहने वाले हितग्राही बेहद प्रसन्न हैं। हाल ही में जिला प्रशासन की पहल पर ग्रामीण क्षेत्रों में शासकीय उचित मूल्य दुकानों में सार्वजनिक वितरण प्रणाली अन्तर्गत लाभान्वित एवं प्रधानमंत्री उज्जवला योजना से लाभान्वित हितग्राहियों का पंजीयन शुरू किया गया है। शासकीय उचित मूल्य दुकान में राशन लेने के लिये हितग्राहियों के आने पर विक्रेता द्वारा यह जानकारी संकलित की जाती है कि कनेक्शनधारी का सिलेण्डर रिफिल हेतु खाली हुआ है अथवा नहीं। दुकान में रिफिल हेतु खाली सिलेण्डर की संख्या 10 से 15 हो जाने पर दुकान द्वारा संबंधित गैस एजेंसी एवं ए.एस.ओ./जे.एस.ओ. को दूरभाष पर खाली सिलेण्डर की जानकारी दी जाती है। सूचना प्राप्त होने पर संबंधित गैस ऐजेंसी 3 दिन के अन्दर संबंधित ग्राम में रिफिल प्रदाय करने की व्यवस्था कर देती है। इस व्यवस्था से उज्जवला योजना के लाभान्वित को अब गैस सिलेण्डर भी आसानी से मिलने लगे हैं।

No comments:

Post a Comment