HelloDharNews

HelloDharNews Hindi news Website, Daily Public News, political, crime,filmy, Media News,Helth News

Breaking

Monday, 23 July 2018

गुना : आमंत्रण पत्र पर सिंधिया का नाम न छापे जाने पर कांग्रेस विधायक ने बहिष्कार किया तो सुरक्षाकर्मियों ने धकेलकर मंच से उतारा

गुना : आमंत्रण पत्र पर सिंधिया का नाम न छापे जाने पर कांग्रेस विधायक ने बहिष्कार किया तो सुरक्षाकर्मियों ने धकेलकर मंच से उतारा

मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री के हाथों गुना-शिवपुरी और गुना-ब्यावरा फोर लेन प्रोजेक्ट का लोकार्पण।
हैलो धार 
      गुना. जिले में सोमवार को लाल परेड ग्राउंड पर आयोजित विकास पर्व, किसान महासम्मेलन के साथ शिवपुरी-गुना और गुना-ब्यावरा फोरलेन प्रोजेक्ट का शुभारंभ हाई वोल्टेज ड्रामा में तब्दील हो गया। जब इस आयोजन के आमंत्रण पत्र में सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम न छापे जाने के विरोध में बमोरी के कांग्रेस विधायक महेंद्र सिंह सिसौदिया ने मंच पर ही हंगामा करने की कोशिश की। उन्होंने माइक से कार्यक्रम के बहिष्कार की घोषणा करनी चाही तो वहां मौजूद सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें धकेलकर मंच से उतार दिया। घटना के वक्त केंद्रीय भूतल, परिवहन, राजमार्ग एवं जल संसाधन नितिन गडकरी और सीएम शिवराज सिंह चौहान मंच पर मौजूद थे।
    काले झंडे दिखाने पर कांग्रेसी गिरफ्तार : इससे पहले इसी मुद्दे पर कांग्रेस नेताओं ने कैंट थाने के सामने भूतल, परिवहन, राजमार्ग एवं जल संसाधन मंत्री व सीएम को काले झंडे दिखाने की कोशिश की। पुलिस ने कई नेताओं को सांकेतिक तौर पर गिरफ्तार भी किया। कार्यक्रम के दौरान आंगनवाड़ी और आशा कार्यकर्ताओं ने सीएम का भाषण शुरू होते ही नारेबाजी की। उधर हनुमान चौराहे पर भी एक बड़ा हादसा हो गया। सभा के लिए लोगों को ला रही बस ने एक दो पहिया वाहन पर बैठी युवतियों को टक्कर मार दी। इससे वे गंभीर रूप से घायल हो गईं। पुलिस ने तुरंत ड्राइवर को हिरासत में लेकर बस को अपने कब्जे में ले लिया।
     सांसद नहीं आ रहे थे इसलिए आमंत्रण पत्र में नाम नहीं दिया : कलेक्टर बी विजय दत्ता का कहना था कि हमने सांसद सिंधिया के पीए से बात की थी। उनसे पूछा गया था कि क्या वे इस कार्यक्रम में आ सकेंगे। पीए का कहना था कि सांसद व्यस्तता की वजह से नहीं आ पाएंगे। इसलिए आमंत्रण पत्र में हमने उनका नाम नहीं रखा। न ही शिलापट्टिका में ही नाम रखा गया।प्रोटोकॉल के मुताबिक नाम होना चाहिए : बमोरी के कांग्रेस विधायक महेंद्र सिसौदिया का कहना था कि यह मामला प्रोटोकाल का था। सांसद आए या नहीं आएं, लेकिन प्रोटोकॉल के मुताबिक उनका नाम होना चाहिए। जब श्री सिंधिया प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजनाओं का लोकार्पण करते हैं तो शिलापट्टिका पर हमेशा स्थानीय विधायक पन्नालाल शाक्य का नाम रहता है। मुझे जिस तरह धकेला, वह लोगों ने भी देखा कि यह सरकार अब तानाशाही पर उतर आई है।
       1 लाख करोड़ से बनेगा दिल्ली-मुंबई हाईवे, मप्र से होकर गुजरेगा : शिवपुरी-गुना और गुना-ब्यावरा फोरलेन प्रोजेक्ट का शुभारंभ करते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि इस साल के अंत तक दिल्ली-मुंबई नेशनल हाईवे का काम शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि यह मप्र में मालवा क्षेत्र से होकर गुजरेगा। एक लाख करोड़ के यह हाईवे एक्सप्रेस वे श्रेणी का होगा। उन्होंने कहा कि इसी तरह चंबल एक्सप्रेस वे का काम भी चुनाव की घोषणा से पहले शुरू करने की योजना है। इस हाईवे पर औद्योगिक क्षेत्र, स्मार्ट सिटी बसेंगी। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड में पानी की समस्या से निजात दिलाने के लिए 44 हजार करोड़ का एक प्रोजेक्ट भी शुरू किया जा रहा है। इसे तहत पांच नदियों को जोड़ा जाएगा। उन्होंने सीएम से कहा कि वे 15 दिन के भीतर दिल्ली आकर इस प्रोजेक्ट के दस्तावेजों पर हस्ताक्षर करें। 
       मैं अब भी कहता हूं अमेरिका से अच्छी हैं हमारी सड़कें :सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि जब मैंने कहा कि मप्र की सड़कें तो अमेरिका से भी बेहतर हैं। तो सबसे ज्यादा विरोध कांग्रेस नेताओं की ओर से आया। कारण यह है कि वे गुलाम मानसिकता वाले हैं। उन्हें लगता है कि भारत में कुछ अच्छा हो ही नहीं सकता। मैं अब भी कहता हूं कि सारे जहां से अच्छा हिंदोस्तां हमारा।

No comments:

Post a Comment